अंबाला (सिटी मीडिया) बराड़ा में एफसीआई गोदामो के पास करीब 15 दुकानो पर जेसीबी चलाकर उन्हें अवैध तरीके से तोड़ने के मामले में जज संदीप सिंह की अदालत ने जग्गी सिटी सेंटर के मालिक हरदीप सिंह जग्गी की गिरफ्तारी पर 25 जून तक रोक लगा दी है तथा साथ ही उन्हे जांच में शामिल होने के आदेश दिये हैं। इसके अलावा अदालत ने मोनू राणा व भूपेंद्र साहनी को भी अग्रिम जमानत दे दी हैै।

जानकारी मिली हैै कि जग्गी के वकीलो संतिद्र गर्ग व अनिल कौशिक ने अदालत में दुकानदारो के साथ हुए समझौैते के कागज भी पेश किये। पता चला है कि जग्गी द्वारा दुकानदारो के नुकसान की भरपाई के बाद दुकानदार मामले से पीछे हट गये हैं। समझौते के कागजो के आधार पर ही अदालत ने आरोपियो को राहत प्रदान की है। इस मामले में पुलिस ने शुरू में एक जेसीबी संचालक व बाद में छह अन्य को भी गिरफ्तार किया था। जानकारी अनुसार कुछ दिन पहले बराड़ा में आधी रात को अचानक कुछ दुकाने तोड़ दी गयी थी, जिसके बाद दुकानदारो पुलिस को शिकायत की थी कि जग्गी के इशारे पर मोनू राणा के आदमियो ने उनकी दुकाने तोड़ी हैै। यह मामला काफी चर्चित रहा था। गृहमंत्री के पास भी गुहार पहुंची थी।

बराड़ा एसएचओ को भी सस्पेंड किया गया था। सिटी मीडिया ने 8 जून को एक खबर में पहले से ही खुलासा कर दिया था कि जग्गी कोई न कोई तिगड़म लगाकर अपने बचाव का रास्ता निकाल लेगा।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here