कोरोना वायरस के चलते जिम बंद कर दिए गए हैं। ऐसे में लोग खुद को फिट रखने के लिए घर पर एक्सरसाइज और योग कर रहें हैं। ऐसे में रस्सी कूदना एक बेस्ट एक्सरसाइज है। हालांकि के कई लोगों का कहना है कि रस्सी कूदने से महिलाओं में यूट्रस की समस्या हो सकती है। जबकि विशेषज्ञों की मानें तो स्किपिंग करना बिल्कुल सुरक्षित है। यह ब्लड सकुर्लेशन को बढ़ाकर दिल से जुड़ी बीमारियों के खतरे को कम करता है।

तो चलिए जानते है रोजाना 30 मिनट रस्सी कूदने से शरीर को मिलने वाले फायदों के बारे मे

वजन कंट्रोल – रस्सी कूदने से शरीर की चर्बी बहुत जल्दी कम होती है।

स्किपिंग करना जॉगिंग या दौड़ने के बराबर होता है।

इससे शरीर की कैलोरी जल्दी कम होती है जिससे वजन कम होने लगता है।

इससे पेट और जांघो की चर्बी जल्दी हटती है।

रोजाना 30 मिनट इसे करने से महीने में ही वजन में काफी फर्क पड़ता है।

फुल बॉडी वर्कआउट- इससे स्टेमिना बढ़ने में मदद मिलती हैं।

इसके अलावा यह फोकस और कॉर्डिनेशन में काफी मददगार साबित होती है।

इससे शरीर में एक्सट्रा चर्बी दूर होने के साथ बॉडी की टोन होती है।

मजबूत हड्डियां- 35 की उम्र के बाद हड्डियां कमजोर होने लगती है जिससे जोड़ों के दर्द की समस्या पैदा हो जाती है।

कुछ महिलाओं की मासिक धर्म के बाद से ही मांसपेशियां कमजोर होने लगती हैं। ऐसे में रस्सी कूदना काफी फायदेमंद होता है। इससे हड्डियां मजबूत होती है। शरीर से पसीने के रूप में विषैले तत्वों के रूप में बाहर निकालते है।

यह कंधे, हाथ और पैरों की मसल्स को टोन और मजबूत करने में मदद करती है।

दिल रखें स्वस्थ- रस्सी कूदने से दिल की धड़कन तेज हो जाती है जिससे दिल बेहतर ढंग से काम करता है। शरीर में आॅक्सीजन लेवल बढ़ता है।

इस तरह दिल से जुड़ी बीमारियों के होने का खतरा कम रहता है। अगर किसी को दिल से जुड़ी को समस्या है तो रस्सी कूदने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लें।
स्ट्रेस करें कम- दिल और दिमाग दोनों बेहतर ढंग से काम करते हैं। तनाव कम होने के साथ-साथ स्मरण शक्ति बढ़ती है।

खूबसूरती बढ़ाए- रस्सी कूदने ब्लड सकुर्लेशन में सुधार आता है।

पसीने के रुप में शरीर से विषैले पदार्थ बाहर निकालते हैं। जिससे स्किन हैल्दी होने के साथ निखरी व ग्लोइंग नजर आती है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here