India-Gate-with-Indian-national-flag
Blog National

क्या है तिरंगा फहराने के नियम व कानून । हो सकती है 3 साल की जेल या जुर्माना या दोनों ।

Spread the love

तिरंगे के अपमान पर 3 साल की जेल या जुर्माना या दोनों हो सकते हैं । अपने देश के प्यारे तिरंगे व राष्ट्रध्वज का अपमान ना करें ।

पहले आम आदमी को अपने दोस्त के घर पर तिरंगा फहराने की अनुमति नहीं थी लेकिन 2002 में भारत सरकार ने भारतीय ध्वज संहिता में बदलाव करते हुए आम लोगों को तिरंगा झंडा फहराने बनाने की अनुमति दे दी । लेकिन तब केवल दिन में ही झंडा फहराने की इजाजत दी गई थी लेकिन 20 जुलाई 2022 को भारतीय झंडा संहिता के पैरा 2.2 के खंड 11 में बदलाव करते हुए जनता को दिन-रात झंडा फहराने की अनुमति दे दी है । इसके अलावा पॉलिस्टर या मशीन से बने झंडे भी लहराए जा सकते हैं इसकी इजाजत पहले नहीं थी पहले केवल हाथ से बुने और ऊन, कपास और खादी से बने झंडे को ही लहराया जा सकता था ।

तिरंगा फहराने के कुछ नियम

  • कोई दूसरा झंडा तिरंगे से ऊंचा नहीं होना चाहिए ।
  • तिरंगे का इस्तेमाल किसी तरह की सजावट के लिए नहीं किया जा सकता ।
  • तिरंगे का इस्तेमाल कपड़े की तरह नहीं किया जा सकता कि उससे किसी सामान या इमारत को ढका जाए ।
  • झंडे का आकार आयताकार होना चाहिए जिसकी लंबाई चौड़ाई का अनुपात 3 अनुपात 2 होना चाहिए ।
  • केसरिया रंग हमेशा ऊपर रहना चाहिए सफेद बीच में और हरा सबसे नीचे ।
  • झंडे के बीच में अशोक चक्र में 24 तिलिया होनी चाहिए ।
  • तिरंगे को पानी में नहीं डूबा जा सकता ।
  • फटा हुआ या गंदा या जला हुआ तिरंगा नहीं लगा सकते ।
  • किसी को सलामी देने के लिए झंडा झुकाया नहीं जा सकता ।
  • तिरंगे में किसी तरह की तस्वीर या पेंटिंग नहीं लगा सकते ।
  • यदि आप कागज के तिरंगे का इस्तेमाल करते हैं तो आपको यह खुले में नहीं फेकना चाहिए बल्कि पूरे सम्मान के साथ निस्तारण करना चाहिए ।

तिरंगा फहराने से जुड़े सारे नियम कायदे भारतीय ध्वज संहिता यानी Flag Code of India 2002 में लिखे हैं यह 26 जनवरी 2002 से लागू है ।

इससे पहले यह कानून THE EMBLEMS AND NAMES (PREVENTION OF IMPROPER USE) ACT, 1950 और THE PREVENTION OF INSULTS TO NATIONAL HONOUR ACT, 1971 था ।

Related News

Source: www.mha.gov.in

Leave a Reply

Your email address will not be published.